क्या कॉलेज स्ट्रीट का मतलब सिर्फ किताबें हैं?

क्या कॉलेज स्ट्रीट का मतलब सिर्फ किताबें हैं? हर्गिज नहीं। इसके बाद ब्रिटिश विरोधी आंदोलनों के विभिन्न इतिहास और भारतीय राजनीति में...

भारत में पनपी ‘सूफी-पंथ’ की दास्तान!

इस्लाम को तमाम धर्मों में सामान्य तौर पर एक कट्टर धर्म माना जाता है, लेकिन बात जब सूफी पंथ की होती है...

स्वेज संकट – जिस तरह से त्रिपक्षीय आक्रामकता विफल रही

स्वेज संकट संयुक्त राज्य अमेरिका और सोवियत संघ के बीच द्वितीय विश्व युद्ध के बाद शीत युद्ध का एक महत्वपूर्ण अध्याय है, जिसका उद्देश्य...

धनानंद से लिया गया ‘चाणक्य का ऐतिहासिक बदला’

चाणक्य का नाम भला कौन नहीं जानता? वर्तमान समय में भी अगर कोई बड़ा अर्थशास्त्री होता है, कोई बड़ा राजनीतिज्ञ होता है...

भारत के सबसे बड़े ‘भूमि सुधार आंदोलन’ की दास्तान

आज़ादी के पहले भारतीय व्यवस्था पहले जमींदारों और भूमिहीनों में बंटी हुई थी। यहां सबको बराबर अधिकार नहीं थे। अंग्रेजी हुकूमत से...

औरंगजेब के सिंहासन की ‘रक्त रंजित’ कहानी

मुगल सल्तनत के आखिरी बादशाह के तौर पर औरंगजेब ने भारत पर एक लंबे समय तक शासन किया, लेकिन उसके ख़राब शासनकाल...

क्या आपने कभी कुछ अलग देखा है?

देखना चाहते हैं? १। एक में! छवि स्रोत: ऊब पांडा २। प्रकाश! छवि स्रोत: ऊब पांडा ३। विभिन्न! छवि स्रोत: ऊब पांडा ४। रसोई! छवि स्रोत: ऊब पांडा ५। डॉट! छवि स्रोत: ऊब पांडा एक! छवि...

भारत के एटॉमिक पावर बनने की ‘ऑपरेशन शक्ति’

अमेरिका और दूसरे पश्चिमी देश किसी भी अन्य देश को परमाणु शक्ति संपन्न होने से किस कदर रोकना चाहते हैं यह हम...

हुमायूं को धूल चटाने वाले शेर शाह को कितना जानते हैं...

एक बालक जिसने किशोरावस्था की दहलीज पर कदम ही रखा था कि उसका नाम फरीद खां से 'शेर खां' पड़ गया!...

हिंसा को ज़रूरी मानने वाले सम्राट अशोक क्यों बने ‘अहिंसक’?

महान सम्राट अशोक को भला कौन नहीं जानता है! जिस प्रकार से अशोक ने कलिंग युद्ध के पश्चात शस्त्र त्याग कर बौद्ध...

Popular articles